About Me

आखिर महिलाओ का श्मसान जाना क्यू वर्जित है

आखिर महिलाओ का श्मसान जाना क्यू वर्जित है

हिन्दू धर्म में स्त्रियों को सर्वोच्च स्थान दिया गया है स्त्री को मातृ सक्ति बताया गया है सभी कार्यो में स्त्रियों को आगे रखा गया है 
तथा ऐसा भी कहा गया है जहाँ स्त्रियों को पूजा होती है वहां देवताओ का वास होता है 
इशके बाद अन्ये धर्मो ने स्त्रियों का बहुत अपमान किया इनके साथ छिना छपती सुरु कर दी 
जब यह धर्म यहां पर आये तो यहां के पंडित पुजारियों पर इनका सीधा प्रभाव पड़ा
इनमे से एक प्रभाव यह भी आता है कि महिलाये माता पिता को अग्नि नही दे सकती 
ज जब हम देखते है जब कोई सेना में शाहिद हो जाता है तो उसको उसकी पुत्री या कभी कभी पत्नी भी अग्नि देती है 
वेदों में कहा गया है कि राजा की अनुपस्तिथि में सारा काम रानी करति हे तथा सभी सैनिको को उसकी बात माननी होती है 
ये नही कहा गया है कि माता पिता को अग्नि सिर्फ पुत्र देगा 
पुत्र की अनुपस्तिथि में पुत्री भी दे सकती है 
कुछ पंडित पुजारी कहते हे की इससे स्वर्ग नही मिलता यदि ऐसा हे तो सन्याशी लोगो को जिनका कोई नही होता उनको कैसे मिलेगा फिर ?
ऐसा नही है यदि कोई स्त्री किसी का अंतिम संस्कार करती है हो हमे उसका सम्मान करना चाइये

Post a Comment

0 Comments