Rajasthan news in hindi

भारत के ऐसे अद्भुत 4 किले जहा लोगो को जाने से सरकार ने भी रोका

भारत विश्व में ऐसा देश है जो दुनिया भर में पर्यटन स्थलों के लिए मशहूर है दुनिया भर से लोग भारत में पर्यटन स्थलों को देखने के लिए आते हैं इसके साथ ही भारत में भी ऐसे लोगों की कमी नहीं है जो पर्यटन स्थलों पर घूमने फिरने के शौकीन हैं आज हम बात करेंगे ऐसे किलो के बारे में जो दिखने में बहुत ही खूबसूरत है और अपनी खौफनाक तथा खतरनाक कहानियों के लिए मशहूर है
1 रायसेन का किला
यह बात तो आप सभी लोग जानते हैं कि पारस से पत्थर भी सोना बन जाता है ऐसी पुरानी मान्यता है लेकिन यह पारस पत्थर कैसा होता होगा कैसा दिखाई देता होगा तथा किस प्रकार यह पत्थर को सोने में बदल देता होगा इस बारे में आपको जानकारी नहीं है आपको तो यह भी नहीं पता कि अभी भी यह पारस पत्थर है मध्यप्रदेश में भोपाल के नजदीक रायसेन नामक जिले में रायसेन नामक किला स्थित है यह जगह भोपाल से लगभग 50 किलोमीटर दूर स्थित है इस किले को लेकर कई कथाएं प्रचलित है तथा कई रहस्य छुपे हुए हैं
ऐसा कहा जाता है किस किले में पारस पत्थर है तथा पारस पत्थर की रखवाली कोई मनुष्य नहीं बल्कि जिन करते हैं यह किला बहुत ही पुराना है तथा एक पहाड़ी के ऊपर स्थित है यह किला से सैकड़ों सालो के बाद भी मजबूती से खड़ा है
ऐसा कहा जाता है कि यहां के राजा के पास पारस पत्थर था जिसके लिए कई युद्ध लड़े गए आखिरकार सामने की सेना के मजबूत होने पर राजा हारने की कगार पर आ गया अपनी हार को सामने देखते हुए राजा ने पारस पत्थर को तालाब में फेंक दिया तथा इसके बाद पारस पत्थर किसी को नहीं मिला
महाराजा रायसेन के साथ ही पारस पत्थर का भी अस्तित्व खत्म हो गया लेकिन लोगों का आज भी यह मानना है कि एक जिन इस पारस पत्थर की रक्षा कर रहा है तथा कई लोग आज भी इस पारस पत्थर को खोजने में लगे हुए हैं यदि कोई व्यक्ति पारस पत्थर की खोज में इस किले के अंदर प्रवेश करता है तो जिन के जादुई प्रभाव से अपनी मानसिक स्थिति को खो बैठता है यहां तक कि लोगों ने अलग-अलग तांत्रिकों कि मदद भी लेते हैं मगर हुआ आज तक सफल नहीं हो पाए ऐसा इसलिए है क्योंकि वह जिन अपनी जादुई शक्ति से इन सब को भी फेल कर देता है आज तक इस किले के रहस्य को कोई सुलझा नहीं पाया है

2 बांधवगढ़ का किला

मध्य प्रदेश में स्थित उमरिया जिले में यह किला भारत के अद्भुत और रहस्यमई जगहो मैं महत्वपूर्ण स्थान रखता है इस किले में भगवान श्री विष्णु कि सयन मुद्रा में पत्थरों से बनी एक विशाल मूर्ति है यह मूर्ति इस किले के अंदर स्थित है जो अपने अंदर बहुत सारे रहस्यों को समेटे हुए हैं बांधवगढ़ का नाम यहीं पर स्थित एक बड़े से पहाड़ के नाम पर रखा गया है इसी पहाड़ पर स्थित है यह किला इसका निर्माण लगभग 2000 साल पहले करवाया गया था यहां पर खास बात यह है कि यह सिर्फ अकेला किला ही रहस्मई नही है बल्कि संपूर्ण पहाड़ ही रहस्यो से भरा पड़ा है ऐसा कहा जाता है कि महाराजा व्यग्र देव ने इसका निर्माण करवाया था इस किले का उल्लेख शिव पुराण में भी मिलता है इस किले के अंदर प्रवेश करने के लिए एक ही रास्ता है जो घने जंगलों से होकर गुजरता है इसके अंदर एक गुफा भी स्थित है राजा इस किले का इस्तेमाल खुफिया जगह के रूप में किया  करते थे किले के अंदर भगवान विष्णु की लगभग 12 प्रतिमाएं स्थित है ऐसा कहा जाता है कि भगवान श्रीराम ने रावण को हराकर लंका से लौटने के बाद लक्ष्मण के लिए इस किले का निर्माण करवाया था इन बातों में कितनी सच्चाई है यह कोई नहीं जानता इस किले के आसपास के जंगलों में कई खतरनाक जानवर घूमते रहते हैं इस किले के अंदर साथ छोटे बड़े तालाब स्थित है जो आज तक पानी से भरे हुए हैं कभी भी सूखे नहीं है

3 प्रबलगढ़ का दुर्ग
यह दुर्ग भारत के महाराष्ट्र राज्य में स्थित है यह दुर्गे अपनी खतरनाक चढाई के लिए विस्व भर में प्रसिद हे यह किला लगभग 2300 फ़ीट की ऊँची एक सीधी पहाड़ी पर स्तिथ हे  इश किले पर जाने के लिए चट्टानों को काटकर ऊपर की ओर सीढ़ियां बनाई गई है
जो एकदम सीधी होने के कारण बहुत ही खतरनाक है इस किले पर चढ़ते वक्त सीढ़ियों के दोनों और ना तो कोई रेलिंग है और ना ही कोई रस्सी चढ़ते वक्त जरा सी चूक भी आपको हजारों फीट गहरी खाई में धकेल सकती है

4 गढ़ कुंडार का किला
यह किला आश्चर्यजनक रूप से बहुत ही रहस्य मय है इस किले के अंदर दो बेसमेंट बने हुए हैं कहते हैं कि इस किले के अंदर इतना ज्यादा खजाना भरा हुआ है कि संपूर्ण भारत एक ही बार में अमीर हो जाए एक बार यहां पर घूमने के लिए एक बारात आई थी इस किले के अंदर पूरी की पूरी बारात ही गायब हो गए थे
वह लोग आज तक मिल नहीं पाए उनका कोई सुराग नहीं लगा इसके बाद नीचे की ओर जाने वाले सारे के सारे रास्तों को बंद कर दिया गया यह किला लगभग 11 वीं सदी में बनाया गया था तथा यह 5 मंजिला है तीन मंजिल तो इस किले के जमीन के ऊपर हैं तथा 2 मंजिल यह किला जमीन के अंदर बना हुआ है इस किले का निर्माण किसने करवाया इसके बारे में अभी तक कोई जानकारी प्राप्त नहीं हुई है यह किला ऐसे बनाया गया है गया जैसे कोई भूल भुलैया हो बिना जानकारी के इस किले में जाना खतरे से खाली नहीं है दिन में भी इस किले में अंधेरा रहता है किले के अंदर खजाने की तलाश में कई लोगों ने अपनी जान भी गमाई है इसके लिए पर बहुत सारे शासकों का कबजा रहा था लोग बताते हैं कि इस किले के बेसमेंट के अंदर इतना सारा सोना है कि संपूर्ण भारत एक ही बार में अमीर हो सकता है !

Post a Comment

0 Comments