व्यक्ति अपने आचरण से महान होता है अपने शरीर से नहीं

(1) दुनिया की सबसे बड़ी ताकत पुरुषों का विवेक और महिला की सुंदरता है

(2) हर मित्रता के पीछे कोई स्वार्थ जरूर होता है यह कड़वा सच है

(3)  अपने बच्चे को पहले 5 साल तक खूब प्यार करें 6 साल से 15 साल तक कठोर अनुशासन और संस्कार दो 16 साल में उनके साथ मित्रवत प्यार करो आप की सतति ही आपकी सबसे अच्छी मित्र है


(4)   दूसरों की गलतियों से सीखो अपने ही ऊपर प्रयोग करके सीखने की तुम्हारी आयु कम पड़ेगी

(5)  किसी भी व्यक्ति को बहुत ईमानदार नहीं होना चाहिए सीधे वृक्ष और व्यक्ति पहले काटे जाते हैं

(6)   अगर कोई सर्प जहरीला नहीं है तब भी उससे जहरीला दिखना चाहिए जैसे दश भले ही न हो पर दश दे सकने की क्षमता को दूसरों को एहसास करवाते रहना चाहिए

(7)  कोई भी काम शुरू करने से पहले तीन सवाल अपने आपसे पूछो मैं ऐसा करने क्यू जा रहा हूं इसका क्या परिणाम होगा क्या मैं सफल रहूंगा

(8)   भय को नजदीक ने आने दो अगर यह नजदीक आए इस पर हमला कर दोभश भय यानी भागो मत इसका सामना करो

(9)  काम कर निष्पादन करो परिणाम से मत डरो

(10)  सुगंध का प्रसार हवा के रुख का मोहताज होता है पर अच्छाई सभी दिशाओं में फैलती है

(11)  ईश्वर चित्र में नहीं चरित्र में बसता है अपनी आत्मा को मंदिर बनाओ

(12) व्यक्ति अपने आचरण से महान होता है अपने शरीर से नहीं

(13) ऐसे व्यक्ति जो आपके स्तर से ऊंचे हैं उन्हें ही अपना मित्र बनाएं वह तुम्हारे कष्ट का कारण बनेंगे सामान स्तर के ही मित्र सुखदायक होते हैं

(14)  अज्ञानी के लिए किताबें और अंधे के लिए दर्पण एक समान उपयोगी है दूसरों की गलतियों से सीखो अपने ही ऊपर प्रयोग करके सीखने की तुम्हारी आयु कम पड़ेगी

(15)  शिक्षा सबसे अच्छी मित्र है, शिक्षित व्यक्ति हमेशा सम्मान प्राप्त करता है शिक्षा की शक्ति के आगे युवा शक्ति और सौंदर्य दोनों ही कमजोर है

यदि आप खुद पर भरोसा रखते हो तो यह आपकी ताकत बन जाती है यदि आप दूसरों पर भरोसा रखते हो तो यह आपकी कमजोरी भी बन सकती सफल लोग वे नहीं होते हैं जो गलती नहीं करते हैं सब लोग वो होते हैं जो एक भी गलती कभी भी जीवन में दो बार नहीं करते हैं

काम कर निष्पादन करो परिणाम से मत डरो
काम कर निष्पादन करो परिणाम से मत डरो
काम कर निष्पादन करो परिणाम से मत डरो
, आपको अच्छा लगे तो जरूर शेयर करें

Post a Comment

0 Comments